बुधवार, 8 जुलाई 2020

हैंगओवर ट्रीटमेंट। नशा उतारने की दवा।

         हैंगओवर ट्रीटमेंट - बहुत सारे लोगों को नशा करने की आदत होती है। नशे में सबसे ज्यादा शराब का इस्तेमाल किया जाता है। कोई देसी पीता है, तो कोई विदेशी। जो लोग ज्यादा पीती है, पूरे टूल हो जाते हैं उनको दूसरे दिन एक समस्या का सामना करना पड़ता है। उस समस्या का नाम है hangover। हॅगओव्हर  का मतलब है  नशा। सारे दिन शराब का हैंगओवर रहता है।  नशा उतरता ही नहीं।

Hangover symptoms 

      हैंगओवर का लक्षण क्या-क्या है ? इसमें सिर बहुत ही ज्यादा दुखता है। मानो सिर फट ही जाएगा। ऐसा दुखता है पूरा शरीर पेन करता है। हाइपर एसिडिटी होती है। उल्टी आती है। कोई भी काम करने में मन नहीं लगता। यह सब लक्षण दूसरे दिन शाम तक और कुछ-कुछ केसेस में तीसरे दिन भी रह सकते हैं।
     जो लोग काम पर जाते हैं, ऑफिस पर जाते हैं उनको  इसकी ज्यादा तकलीफ होती है। Hangover की वजह से वह ठीक से काम नहीं कर पाते। फिर काम में मन नहीं लगता। हैंगओवर दूसरे दिन सुबह ही उतारना सबसे महत्वपूर्ण है। अब हम हैंगओवर उतारने की, जड़ से उतारने के लिए ट्रीटमेंट और घरेलू उपाय देखेंगे।

HANGOVER TREATMENT, हैंगओवर ट्रीटमेंट।

       टेबलेट डिस्प्रिन tab. Disprin या फिर टेबलेट निसिप प्लस tab. Nicip  plus । इसमें से एक गोली तुरंत लीजिए या फिर एक  डिस्प्रिन और एक टेबलेट निसिप प्लस दोनों लीजिए उस से सिर दर्द और बदन दर्द दोनों खत्म हो जाएंगे।
      T. Ondem md ऑनडेम एमडी या फिर टेबलेट tab. Onsetril।  अगर आपको ज्यादा उल्टी हो रही हो तो इसमें से एक टैबलेट आप मुंह में डालीए, वह मुंह में खुल जाती है और उससे उल्टी झट से ठहर जाती है।

नशा उतारने के घरेलू उपाय

     एक गिलास पानी लीजिए उसमें आधा निंबू नीचोडिए और उसमें एक चम्मच हनी मिलाई,  शहद और उसे अच्छी तरह से घोलकर पी लीजिए। इससे हैंगओवर  उतर जाता है।
      एक कप चाय या फिर एक कप कॉफी लेने से हैंगओवर उतर जाता है। लेकिन उसमें बहुत सारी शक्कर डालिए और फिर पीजिए।
      शराब से शरीर का पानी और शरीर की शुगर लेवल कम हो जाती है। उसे नार्मल करने के लिए पहले तो आपको ज्यादा से ज्यादा पानी पीना पड़ेगा। जूस, शरबत,  पी सकते है। शरबत पी सकते हैं , नींबू पानी पी सकते है, नारियल पानी पी सकते हैं।
        शराब पीने के बाद आदमी खाना ठीक से नहीं खाता। या फिर खाना ही नहीं खाता। इसीलिए दूसरे दिन पेट भर कर खाना खाए, उससे शुगर लेवल भी ठीक हो जाएगी।
        दो-तीन घंटे तक रेस्ट करना यानी सो जाना सबसे आसान तरीका है। लेकिन जिन लोगों को काम पर जाना है, वह लोग अपने फैमिली डॉक्टर के पास जाकर दिखा सकते हैं।  और एक इंजेक्शन भी लिख सकते हैं।
Stay fit stay healthy ।
Read more- black spot treatment 
Hangover treatment
Hangover 

गुरुवार, 11 जून 2020

झाइयां । काले दाग धब्बे । melasma।

Melasma - बहुत सारे लोगों के चेहरे पर झाइयां आ जाती है।  इसे अंग्रेजी में मेलास्मा भी कहते हैं । चेहरे पर काले दाग धब्बे आ जाते हैं।  झाइयों के ऊपर, काले दाग धब्बों के ऊपर आपको बहुत सारे आर्टिकल्स ब्लॉग्स  मिल जाएंगे।  किसी ने 3 दिन में दाग धब्बे कम करने को कहा है। किसी ने इसके ऊपर घरेलू उपाय बताएं है।
     लेकिन मैं आपको आज झाइयां हटाने के लिए, चेहरे के काले दाग धब्बे हटाने के लिए, एक ऐसी क्रीम बताऊंगा जिससे आपकी दाग धब्बे पूरी तरह से और हमेशा के लिए ठीक हो जाएंगे। यह पूरी तरह से साइंटिफिक जानकारी होगी। और इसके साथ साथ कोई टिप्स भी बताऊंगा जिससे यह फिर से वापस ना आए।
Dark spots treatment
Remove black spots 

झाइयों किन में आती है। melasma।

         झाइयां यह बीमारी ज्यादातर औरतों में पाई जाती है। पुरुषों में इसका प्रमाण बहुत ही कम है। इसमें क्या होता है कि पूरे चेहरे पर काले दाग धब्बे आ जाते हैं। पूरे चेहरे पर खासकर के दाग धब्बे ज्यादातर गाल, नाक , माथा, lips के आजू-बाजू के हिस्से में ज्यादा आ जाते हैं।

झाइयों का कारण। causes of melasma ।

           औरतों में प्रेगनेंसी के बाद इसके होने के चांसेस बहुत ही ज्यादा होते है। जो औरतें of pills यानी कि गर्भनिरोधक गोलियों का सेवन बहुत सालों तक करती है उनमें भी यह बीमारी पाई जाती है। जिनका आउटडोर जॉब है जिनको धूप में ज्यादा काम करना पड़ता है उनको भी यह होता है। धूप में होने वाले यूवी रेज इसका कारण है। और चौथा जेनेटिक फैक्टर, मां से आपको आपको , आपसे बेटी को, ऐसा यह फैमिली में पाया जाता  है।

  मेलाजमा ट्रीटमेंट । melasma treatment ।

        काले दाग धब्बे हमेशा के लिए ठीक करने के लिए सबसे अच्छी औषधि है। उस क्रीम का नाम है melamet, skinlite, noscar मेलामेट क्रीम स्किन लाइट नो स्कार।  यह तीनों ब्रांड नेम है आपको मेडिकल स्टोर में से आसानी से मिल जाएंगे। इसका कंटेंट है हाइड्रो केनाल मेटाजोन ट्रेटिनोइन hydroquinone,  mometasone, tretinoin ।
      यह क्रीम आपको सोते समय रात में लगानी है। पूरे चेहरे पर लगाए और सुबह धो डालिए। लेकिन एक बात का बहुत बारीकी से ध्यान रखें , कि इसकी कुछ कुछ लोगों को एलर्जी होती है। इसके लिए आप क्या करें कि पहले रात बहुत ही थोड़ी सी ही क्रीम चेहरे पर लगाएं। और फिर देखिए सुबह उसकी जगह लाली है, या खुजाता है, या फिर सूज गया है, या फिर दुख रहा है । अगर ऊपर का कोई भी लक्षण आप में नजर आए तो, आपको इसकी allergy  है । तो आपको यह क्रीम इसके बाद कभी भी इस्तेमाल नहीं करनी है।
       ऐसी ऊपर की कोई भी लक्षण आप में दिखाई ना दे , तो आप इसका कोर्स लगातार तीन महीनों तक करें। 3 महीने में आप की झाइयां, काले दाग धब्बे पूरी तरह से ठीक हो जाएंगे।

Tips to prevent dark spots 

    क्रीम से आपका मेलास्मा पूरी तरह से ठीक हो जाएगा।  लेकिन यह कुछ महीनों बाद वापस आने के चांस होता हैं। यह फिर से वापस ना आए इसके लिए मैं आज आपको टिप्स और ट्रिक्स बताऊंगा।
       पहले तो जब भी आप धूप में बाहर निकले तो यह ध्यान रखें कि आपका चेहरा पूरी तरह से सनस्क्रीम लगाकर ही ढक दें। पूरे चेहरे पर सनस्क्रीन लगाएं और फिर बाहर जाएं। अगर पॉसिबल नहीं है तो पूरा चेहरा आपको स्कार्फ  से ढकना होगा।
        रात को सोते समय चेहरे के ऊपर वैसलीन ही लगाएं।  अगर आप गर्भनिरोधक गोलियों का सेवन कर रही है तो गर्भ निरोधक गोलियां तुरंत ही बंद कर दें। इसके अलावा गर्भनिरोधक के दूसरे उपाय आप ट्राई कर सकते हैं। दूसरे पहै copper T और कंडोम।
      आपकी स्किन वेल हाइड्रेटेड होनी चाहिए। इसके लिए पानी भरपूर मात्रा में पिएं। पानी कम से कम 3 से 4 लीटर तो आप रोज आपको पीना ही पड़ेगा। हरी सब्जियां भरपूर मात्रा में खाएं और कौन सा भी एक फल रोज खाएं।
Read more- coronavirus prevention
Stay fit stay healthy ।
Black spots treatment
Tips to prevent dark spots 

गुरुवार, 4 जून 2020

कोरोनावायरस से बचने के उपाय। tips to prevent covid-19 ।

Tips to prevent Coronavirus
Covid-19 prevention 

Coronavirus prevention  - कोरोनावायरस ने तो दिमाग खराब कर रखा है। इधर जाओ, उधर जाओ,  कोरोनावायरस, न्यूज़ लगाओ तो भी सिर्फ और सिर्फ कोरोनावायरस है। पूरा विश्व अब इंतजार कर रहा है कि कोरोनावायरस कब जाएगा और हम कब चैन की सांस ले सकेंगे। लेकिन कोरोनावायरस है कि वह जाता ही नहीं है।
        WHO डब्ल्यू डब्ल्यू एच ओ ने स्पष्ट कर दिया है कि शायद कोरोनावायरस अब कभी भी नहीं जाएगा। जैसे स्वाइन फ्लू रहेगा वैसे ही कोरोनावायरस कोविड-19 रह सकता है। और साथ ही दूसरे शास्त्रज्ञोंकी माने तो अगर कोरोनावायरस गया भी तो कम से कम 6 महीने से 1 साल तो वह रहेगा ही रहेगा। उसके  बाद ही उसके कम होने के चांसेस है।
       अभी lockdown धीरे  धीरे उठ रहा है। दुकानें शुरू हो गई है, कंपनी शुरू हो गए हैं, लोग अपने अपने जॉब पर जाने लगे हैं। धीरे-धीरे कुछ दिनों में पूरी तरह से लॉक डाउन उठ जाएगा। मेट्रो सिटीज से गांव में लोग आना शुरू हो चुके हैं। इन दोनों वजह से पूरे देश में अब कोरोनावायरस फैलने का बहुत ही ज्यादा चांसेस है। तो अभी हमें बहुत ही ज्यादा सावधानी बरतनी पड़ेगी।             अगर हमें कोविड-19 से बचना हेतु तो अब मैं आपको कुछ ऐसे टिप्स बताऊंगा जो आप 1 साल तक फॉलो  करेंगे तो कोविड-19 आपको छू भी नहीं पाएगा।

Tips to prevent coronavirus 

1. पहली और सबसे  महत्वपूर्ण बात कि,  आपको बिना मास्क लगाए घर से बाहर निकलना ही नहीं है। घर से बाहर निकलते वक्त मास्क पहने, तब तक पहने जब तक आप घर पर वापस नहीं आ जाते।
2. बार बार हाथ मुंह को नाक को और आँख को नहीं लगाना है। अगर लगाना भी होता है, तब भी हाथ हैंड सैनिटाइजर से  साफ कर कर ही मुंह को नाक को और आखों को लगाएं।
3. हर आधे घंटे में आपको हैंड सैनिटाइजर या फिर साबुन से अपना हाथ धोना ही है। बाहर जाते वक्त जेब में हैंड सैनिटाइजर की बोतल रखें और हर आधे घंटे में हाथ धोते रहे।
4. अगले 1 साल तक आपको दाढ़ी मुछे बिल्कुल ही नहीं रखनी है क्योंकि इसमें वायरस पनप सकता है। पूरे क्लीन शेव रहे।
5. कटिंग और शेव बनाने के लिए नाई के पास  न जाए। घर पर ही शेव बनाएं। अगर कटिंग करना ही है तो नाई को घर बुलाए, उसे मास्क पहनने दे मास्क लगाकर ही उन्हें कटिंग करने को बोले।
6. पूरा शरीर ढक सके ऐसे कपड़े होने चाहिए। फुल स्लीव्स की यानी फुल बाहों वाले कपड़े पहने।
7. बेल्ट, अंगूठियां , घड़ी और जेवर बिल्कुल ही ना पहने। औरतो के लिए सबसे महत्वपूर्ण सूचना जितना जरूरी होता है गहना उतना ही पहने, बाकी के गहने   मत पहने।
8. आवाजाही के लिए यानी ट्रांसपोर्ट के लिए अपनी खुद की टू व्हीलर या फिर फोर व्हीलर का इस्तेमाल करें। पब्लिक ट्रांसपोर्ट यानी कि रिक्शा बस टैक्सी इसका इस्तेमाल ना करें।
9. बाहर से घर आते वक्त हाथ पैर पूरी तरह से साबुन से स्वच्छ धोएं।  बिना हाथ मुंह साबुन से स्वच्छ धोएं  घर में प्रवेश न करें।
10. घर के बाहर सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखें। सोशल डिस्टेंसिंग यानी दो व्यक्तियों के बीच का अंतर 2 मीटर होना चाहिए। 2 मीटर यानी कम से कम 5 फीट।
11. यूज एंड थ्रो वाला मास्क आप रस्ते पर कहीं भी मत फैकिए । उसे जला दीजिए और  reusable रीयूज एबल मास्क 10 मिनट तक, कम से कम उबाले हुए पानी में भिगोकर रखें और उसके बाद ही धो कर पुनः इस्तेमाल करें।
12. खरीदारी के लिए क्याश cash का कम से कम इस्तेमाल करें। ट्रांजैक्शन के लिए फोन पे,Google  tea तेज, भीम ऐप इसका उपयोग करें।
Stay fit stay healthy ।
Tips to prevent covid-19
Covid-19 prevention 

बुधवार, 20 मई 2020

pica in Hindi। मिट्टी खाने का रामबाण इलाज।

Pica
            बच्चों की मीट्टी खाना कैसे छुडाए?
Pica - बच्चा मीट्टी खाना कैसे छुडाए?
   हमारे ओपीडी में बहुत सारे पेरेंट्स आते हैं। सबकी एक ही कंप्लेंट होती है कि, उनका बच्चा मिट्टी खा रहा है। मिट्टी के साथ-साथ पेंसिल खाता है, कंकड़ खाता है, कलर, बहुत सारी चीजें खाता है।
      इसे अंग्रेजी में पिका बोलते हैं। यह आदत छूटनी चाहिए। हमने बहुत सारी औषधियां ट्राई की, बहुत सारे डॉक्टरों को दिखाया, लेकिन मिट्टी खाने की आदत छूट थी ही नहीं।
      इस आर्टिकल में आपको इसकी औषधि  और घरेलू उपाय बताऊंगा। जिससे आपका बच्चा हमेशा के लिए मिट्टी, कंकड़,पेंसिल आदि चीजें खाना छोड़ देगा।

मीट्टी खाने  के कारण।  

यह समस्या लो सोशियो इकोनामिक क्लास low socioeconomic class, यानी गरीबों में ज्यादा पाई जाती है। क्योंकि उनके घर में खाने पीने की चीजें  पर्याप्त मात्रा में नहीं होती।  तो बच्चे का पोषण अच्छी तरह से नहीं हो पाता। इसी वजह से बच्चा मिट्टी कंकड़ खाता है।
    अमीरों  के घर में भी यह प्रॉब्लम देखी जाती है।  पर जिन घरों में झगड़े ज्यादा होते हैं, माता-पिता झगड़ते हैं, उनके बच्चे ज्यादातर मिट्टी खाते हैं।
     साइंटिफिक भाषा में बोले तो पेट के कीड़े, कैल्शियम की कमी और खून की कमी यह तीन मेन कारण है।

मिट्टी खाना छोड़ने के घरेलू उपाय

    आपका बच्चा तंदुरुस्त होना चाहिए, हट्टा खट्टा होना चाहिए। इस पर ध्यान दीजिए। उसे रोज एक हाफ अंडा बॉईल करके दीजिए। चिकन, मटन, नॉनवेज ,हरी सब्जियां भरपूर मात्रा में दीजिए। रोज एक फल खाने के लिए दीजिए।
    घर में सुख शांति होनी चाहिए। घर में झगड़ा बिल्कुल ही मत करें। खासकर बच्चों के सामने तो बिल्कुल ही नहीं।
    बच्चे को डांटे मारिए नहीं। डांट ने और मारने से परिस्थिति और बिकट हो जाती है। बच्चे के ऊपर आप ज्यादा ध्यान दें। वह क्या कर रहा है, अगर वह मिट्टी खाने की कोशिश करे तो उसे रोकिए, मारिए डटिए नहीं। आप उसका ध्यान दूसरी तरफ आकर्षित कीजिए। ऐसा आप बच्चे को खिलौना देकर भी कर सकते हैं।
      बच्चे प्यार के भूखे होते हैं। उनसे ज्यादा से ज्यादा प्यार करें उनके साथ खेले कूदे मस्ती करें। बच्चों के साथ ज्यादा से ज्यादा वक्त बिताएं।

Pica treatment। मीट्टी खाने की औषधि। 

बच्चों की मीट्टी खाना कम करने के लिए, हम पेट के कीड़ों की दवा,कैल्शियम की दवा और खून बढ़ाने की दवा 2 महीने तक देते है।
Syp. Bended plus 5 ml रात को 2 दिनों तक, 
Syp. Ostocalcium 5ml रोज रात को, 
Syp. Tonoferon 5ml रोज सुबह 
सिरप बेंडेक्स प्लस 2 दिन तक लेनी होती है।  syp. Ostocalcium और syp. Tonoferon का कोर्स 2 महीने तक करना होता है।
      ऊपर के दिए हुए उपाय और औषधि आप रेगुलर अच्छी तरह से करेंगे,तो आपका बच्चा हंड्रेड परसेंट मिट्टी, कंकड़, प्लास्टर, पेंसिल खाना छोड़ देगा।
Stay fit stay healthy ।
मिट्टी खाने की आदत कैसे छुडाए
Pica treatment in hindi 


गुरुवार, 14 मई 2020

अश्वगंधा चूर्ण । ashwagandha ।

Ashwagandha benifits
Ashwagandha Churnabenifits 

Ashwagandha - अश्वगंधा एक आयुर्वेदिक औषधि है। भारत में इसे 3000 सालों से इस्तेमाल कर रहे हैं। यह आयुर्वेदा की सबसे महत्वपूर्ण औषधि  है।  इसके फल, बीज, पत्ते, खाल, मूली सभी का औषधि  इस्तेमाल है। इसके सबसे ज्यादा औषधि  है मूली।  मूली का चूर्ण तो आज के आर्टिकल में हम, अश्वगंधा चूर्ण  का  उपयोग देखेंगे।

Benifits of ashwagandha 

     1. सबसे पहला और महत्वपूर्ण फायदा है कि अश्वगंधा चूर्ण से स्ट्रेस एंड anxiety यानी तान तनाव कम होता है। आज के इस फास्ट लाइफ में टेंशन बहुत ही आम बात है। इसके ऊपर एलोपैथिक की औषधि भी दी जाती है। लेकिन उसके बहुत सारे साइड इफेक्ट है। अश्वगंधा चूर्ण टेंशन तो कम करता ही है, लेकिन इसके कोई साइड इफेक्ट नहीं है।
     2.  इसे मसल मास यानी माउंस पेशिया बढ़ती है।आयुर्वेद में अश्वगंधा को रसायन कहा जाता है। रसायन यानी इसके सेवन से इंसान लंबी  और निरोगी आयु जीता है।  इससे इंसान बहुत सालों तक जवान रह सकता है। और बुढ़ापा जल्दी नहीं आता। इसके इस्तेमाल से मसल मास, मांसपेशियां बढ़ती है। सप्तधातु भी बढ़ते हैं। इसका उपयोग वजन बढ़ाने के लिए किया जाता है। शरीर में ताकत आ जाती है। इंसान चुस्ती और फुर्ती का एहसास करता है।
      3.जिन पुरुषों को संतति नहीं प्राप्त हो रही है। उनमें पुरुषत्व की कमी है। तो उसके लिए अश्वगंधा सबसे बेहतरीन है। इससे फर्टिलिटी बढ़ती है। संतान न होने के प्रमुख दो कारण होते हैं। स्पर्म काउंट कम कम होना और स्पर्म की मोटिलिटी कम होना। अश्वगंधा से स्पर्म की संख्या भी बढ़ती है और उसकी मोटिलिटी यानी एक्टिविटीज भी बढ़ती है।

अश्वगंधा के फायदे 

    4. Increases sex Desire- इससे  काम इच्छा बढ़ती है। कामेच्छा कम होने के दो प्रमुख कारण होते हैं। पहला स्ट्रेस रिलेटेड लैक ऑफ़ सेक्स डिझायर और दूसरा testosterone hormones की कमी। जैसे मैंने पहले बताया कि stress, anxiety एंजाइटी अश्वगंधा से कम होती है।  तो stress रिलेटेड सेक्स डिजायर का ashwagandha इसका परमानेंट सॉल्यूशन है। अश्वगंधा चूर्ण से टेस्टोस्टेरोन हार्मोन की लेवल बढ़ती है और हार्मोन की वजह से कामेच्छा  बढ़ती है। 
     5. इससे कोलेस्ट्रोल और ट्राइग्लिसराइड की लेवल कम हो जाती है। कोलेस्ट्रोल और ट्राइग्लिसराइड ही heart के लिए बहुत ही हानिकारक होते हैं। इनकी लेवल कम हो जाने से हार्ट  की बीमारियां भी बहुत हद तक कम हो जाती है। 
    6.अश्वगंधा डायबिटीज में भी बहुत मददगार है। diabetes से शुगर लेवल बढ़ती है।  एक तो इंसुलिन की लेवल शरीर में कम हो जाती है और कोशिकाओंकी इंसुलिन लेने की क्षमता यानी इंसुलिन सेंसटिविटी भी कम हो जाती है। अश्वगंधा चूर्ण से इंसुलिन लेवल भी बढ़ती है और इन cells की इंसुलिन सेंसटिविटी insulin sensitivity भी बढ़ती है। इससे शुगर लेवल नॉर्मल रहने में मददगार साबित होती है।

अश्वगंधा चूर्ण 

   7. यह कैंसर की रोकथाम में मददगार है। कैंसर सेल्स की उत्पत्ति और कैंसर सेल्स का बढ़ाना इससे कम हो जाता है।
    8. इसमें पेन किलर और एंटी इन्फ्लेमेटरी प्रॉपर्टीज है। इसका मतलब आप और आपका घुटने में दर्द हो मान,पाठ, कमर दर्द कर रही हो, तो उसका दर्द कम हो जाता है। उसके साथ साथ उधर  की सूजन और लाली भी कम हो जाती है।
     9. Increases brain function  and memory- इससे ब्रेन फंक्शन और मेमोरी भी बढ़ती है। मस्तिष्क जोर से काम करने लगता है। याददाश्त अच्छी रहती है।  मस्तिष्क से रिलेटेड डिसीसिस जो है जैसे कि अल्जाइमर डिजीज इसमें अश्वगंधा कारगर साबित हुई है।
Stay fit stay healthy ।
Read more- tablets at home 
Ashwagandha
Ashwagandha benifits in hindi 

बुधवार, 6 मई 2020

Tablet । घर में रखने की महत्वपूर्ण गोलियां।

Tablet
Tablets for home emergency 

Tablet - अभी पूरे विश्व की आधी आबादी घर पर ही बैठी है। कई सालों में सारे देशों में अभी लाकड़ौन चल रहा है। भारत में भी 17  मई तक लाकड़ौन बढ़ाया गया है। इस बीमारी के चलते लाकड़ौन बढ़ाना बहुत ही अनिवार्य है। और कितने दिन चलेगा यह भी पता नहीं। इसके बहुत सारे फायदे होंगे लेकिन कुछ नुकसान भी है।
            मुंबई पुणे जैसी मेट्रो सिटीज में ओपीडी यानी क्लीनिक बंद है। बड़े-बड़े अस्पतालों में भी ओपीडी बंद रखी गई है। सिर्फ इमरजेंसी कैसेस  चालू है। इन सब का नुकसान यह हो रहा है कि लोगों को छोटी-छोटी बीमारियों के लिए भी गोलियां मिलनी या फिर डॉक्टर की सलाह मिलनी बंद हो गई है। यह हो गई पहली केस।
        दूसरी केस ऐसी होती है कि, lockdown नहीं भी होता तो भी,  अगर रात को कोई घर का सदस्य बीमार पड़ जाए। पेट दुखने लगे , दस्त हो जाए तो सुबह तक ठहरना ही पड़ता है। डॉक्टर की ओपीडी शुरू होने तक क्योंकि रात को तो छुटपुट बीमारियों को हम डॉक्टर को कॉल नहीं कर सकते।
          ऊपर के दोनों केसेस में भी आपके घर में कुछ दवाइयां होना बहुत ही जरूरी है। जो छुटपुट बीमारी  में इस्तेमाल की जा सकती है।  कौन सी दवाई कौन सी बीमारी ने  लेनी चाहिए, कितने डोस में लेनी चाहिए, कितने वक्त तक लेनी चाहिए, आपको पता होना चाहिए। यह पूरी जानकारी मैंने आपको इस ब्लॉग में दी है।

Medicine at home 

1. बुखार आना - अगर रात को अचानक से और कभी भी बुखार आ जाए तो उसके लिए क्रोसिन 500mg डोलो 500 एमजी इनमें से कौन सी भी एक गोली आप तुरंत लीजिए।  बुखार चला जाएगा और फिर बाद में बुखार आए तब एक गोली आप ले सकते हैं।

2. सर्दी जुखाम - आपको सर्दी हो गई हो नाक से पानी आ रहा हो , छींक आ रही हो, सिर दुख रहा हो, गले में खींच खींच  हो, उस कंडीशन में सबसे बेस्ट गोली है, टेबलेट ओकासेट। टेबलेट okacet - सुबह और शाम को खाने के बाद। लेकिन अभी इस वायरस की बीमारी ने तहलका मचा रखा है। इसके चलते आप यह गोली ज्यादा से ज्यादा 2 दिन तक ही लीजिए। उससे ज्यादा मत लीजिए। उससे ज्यादा आपको सर्दी बुखार खांसी या फिर दूसरे कई लक्षण दिखाई दे, तो आप तुरंत ही डॉक्टर के पास दिखा लीजिए। या फिर अस्पताल में दिखा लीजिए, या फिर जो फीवर क्लीनिक गवर्नमेंट ने शुरू की है उनमें से डॉक्टर को दिखाएं।

3. दर्द की गोली - अगर आपकी कमर दर्द कर रही हो, घुटने में दर्द हो, मान, कंधे में दर्द हो, तो आपके लिए सबसे बेस्ट गोली है टेबलेट aciclo plus प्लस। कौन सा भी दर्द हो आपका वह झट से ठीक कर देगी।

4 दस्त लगना - यानी लूज मोशन, अगर आप को दस्त लगे हुए हो , toulet को पतली हो रही हो, तो जरा सा भी देरी हो जाए तो शरीर का पानी बिल्कुल ही कम हो जाता है। इसी वजह से बीपी कम हो जाता है। तो दस्त रोकना बहुत ही जरूरी होता है। अगर आपको  नॉरमल कंडीशन में भी रात में दस्त लग जाए तो सुबह तक आप रुक नहीं सकते। क्योंकि आप की हालत बहुत ही खराब हो सकते। इन दोनों कंडीशन में आपको टेबलेट andialएनडीएल या फिर टेबलेट lomotil लोमोटिल, 2 गोली आप एक साथ लीजिए और फिर डॉक्टर को दिखा लीजिए।

5. सिर दर्द - अगर आपका सिर दर्द कर रहा हो सिर फट रहा हो और आपको कोई सूझ नहीं रहा। तो झट से आराम देने वाली गोली है, टेबलेट nocip 100 वन हंड्रेड। यह गोली आप तुरंत ले लीजिए तो आधे घंटे में सिर दर्द कम हो जाएगा।

6. पित्त होना- hyperacidity- हाइपर एसिडिटी अगर आपको छाती में जलन महसूस हो रही हो, एसिडिटी हो रही हो , उल्टी आ रही हो, इन सब कंडीशन में  टेबलेट pan d ।यह गोली सुबह और शाम को खाने से पहले आधा घंटा 2 दिन तक लीजिए इससे राहत मिल जाएगी।

      यह गोलियां मैंने जो बताइ है, वह सिर्फ आप दो-तीन दिन ही लीजिये।  यानी ज्यादा से ज्यादा आप दो दिनों तक ही ले सकते हैं। इससे ज्यादा मत लीजिए ।गोलियां खाकर घर पर ही बैठे मत रहे।  यह गोली सिर्फ आपको डॉक्टर को दिखाने तक, आपकी तकलीफ  कम होने के लिए ही मैंने बताई है।  कुछ लोग इसकी आदत डाल सकते हैं। ऐसा मत कीजिए। यह गोली सिर्फ रात में इमरजेंसी के लिए ही इस्तेमाल करें और फिर डॉक्टर को दिखा लीजिए।
Read more- cancer treatment 
Tablet
Tablets 

Stay fit stay healthy ।

बुधवार, 29 अप्रैल 2020

कैंसर ट्रीटमेंट। cancer ।

Cancer
कैन्सर की दवा 

Cancer - कैंसर ट्रीटमेंट - UICC यूआईसीसी यूनियन ऑफ इंटरनेशनल कैंसर कंट्रोल। यह संस्था  पूरे विश्व में कैंसर के जनजागृति, कैंसर के बारे में लोगों में जागृति पैदा करना और इससे कैंसर फैलने में रोकने में काम करती है। कैंसर जल्दी से जल्दी डिटेक्ट हो और कैंसर से होने वाली मौतें कम हो इसीलिए यूआईसीसी प्रयास करती है।
    इंडिया में लगभग 22 लाख से ऊपर कैंसर के पेशेंट है।  दुनिया में इसका आकडा करोड़ों से ऊपर है। हर साल 1100000 पेशेंट में कैंसर पाया जाता है। इनमें से एक लाख के ऊपर लोगों की हर साल मौत इंडिया में होती है।
       अब उन सारे कैंसर पेशेंट के लिए बहुत ही बड़ी खुशखबरी है।  कैंसर को पूरी तरह से ठीक करने वाली दवा इसराइल israil में बनाई गई है। यह दवा हर एक प्रकार के कैंसर को ठीक कर देगी। पहले क्या होता था कि फर्स्ट stage में  ही कैंसर केवल ठीक  होता था। लेकिन यह दवाई में इतना असर है कि यह फोर्थ स्टेज का भी कैंसर ठीक कर सकती है।

Cancer treatment 

18 साल पुरानी इजरायल की कंपनी Accelerated evolutionary biotechnology limited एक्सीलरेटेड इवोल्यूशन बायो टेक्नोलॉजी लिमिटेड। इस कंपनी ने यह दवाई तैयार की है। इस कंपनी के सीईओ Elan mourad जी का बयान आया है,  कि उनका कहना है कि उन्होंने MuTaTo ट्रीटमेंट तैयार की है। मतलब  multi-target टॉक्सिन।   यह औषधि बहुत सारे कैंसर टारगेटिंग पेप्टाइड्स cancer targeting peptides का मिश्रण है। जिसमें ट्रांसपेप्टाइड transpeptide मिलाया गया है।

कैन्सर की दवा 

       यह दवाई हर एक कैंसर सेल के ऊपर तीनों साइड से अटैक कर देती है। यह दवाई कैंसर सेल्स को पूरी तरह से नष्ट कर देती है। जिसकी वजह से वह कैंसर सेल्स की संख्या बढ़ने से भी रोका जा सकता है।
        कैंसर के कुल 4 स्टेज होते हैं। पहले तो first स्टेज का ही पेशेंट ठीक हो सकता था। लेकिन अभी इस दवाई की वजह से फोर्थ स्टेज का भी कैंसर ठीक हो जाएगा। ऐसा इस कंपनी का दावा है। कंपनी की माने तो इस दवा का असर पहले दिन से ही शुरू हो जाएगा। कुछ ही हफ्तों में वह पेशेंट पूरी तरह से ठीक हो जाएगा।        यह दवाई दूसरे कैंसर की औषधियों से भी सस्ती होगी। कंपनी का कहना है कि ये एक साल में मार्केट में औषधि आ जाएगी। और वह सबको मिलना शुरू हो जाएगा।
Read more- how to increase height
Hope for the best ।
Cancer
कैन्सर की दवा 

Comments system

[blogger][disqus][facebook]

Disqus Shortname

sigma-2