सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

कुत्ता बिल्ली पालने के नुकसान

   
Side effects of pets in hindi
Kutta billi palne ke nuksaan 
 


  कुत्ता बिल्ली पालने के नुकसान-     क्या आप कुत्ता बिल्ली पालते हैं? जानवरों को पालना अच्छी बात है, देखा जाए तो वह इंसानों से ज्यादा वफादार होते हैं। आप आंख बंद कर के उन पर विश्वास कर सकते हैं। कई कुत्तों और बिल्लियों ने अपने मालिक के लिए अपनी जान जोखिम में डालकर उनकी जान बचाई है , ऐसे कई उदाहरण है। लेकिन  जितने ज्यादा फायदे कुत्ता और बिल्ली पालने के हैं उतने ही उनके नुकसान भी हो सकते हैं । उनको घर में पालना आपके लिए परेशानी का कारण भी बन सकता है, हां आपने ठीक पढ़ा बिल्ली पालना आपके लिए खतरनाक हो सकता है और आपके जान पर भी बन आ सकती है।
Read this post in English 

    कुत्ता बिल्ली पालने के नुकसान 

     स्टडी के मुताबिक जानवरों में होने  वाले डैंड्रफ और मल के कारण ऐसा होता है । उनके स्किन और मल में ऐसे बैक्टीरिया होते हैं , जो न सिर्फ छूने के कारण बल्कि सांस लेने के जरिए इंसान के शरीर में प्रवेश करते हैं । यह बैक्टीरिया पाचन क्रिया को प्रभावित करते हैं,  इसी वजह से IBS आईबीएस का खतरा बढ़ता है आईबीएस यानी इरिटेबल बॉवेल सिंड्रोम ( Iritable bowel syndrome) ।

Aankh aane, conjunctivitis 

आईबीएस होने पर एक व्यक्ति को ना सिर्फ शारीरिक परेशानियों का सामना करना पड़ता है,  बल्कि डिप्रेशन  depression, डिमेंशिया dimensia, जैसे मानसिक आजारों का भी सामना करना पड़ सकता है।  इस बीमारी का इलाज काफी लंबे समय तक चलता है , और अब तक इस बीमारी को जड़ से खत्म करने का इलाज नहीं ढूंढा जा सका।  ऐसे में पीड़ित मरीज को जिंदगी भर दवाइयों पर ही निर्भर रहना पड़ता है।

        दूसरी और सबसे महत्वपूर्ण बीमारी है,  जो कुत्ता बिल्ली पालने से होती है वह है अस्थमा,asthama यानी दमा और एलर्जी राइनाइटिस allergic rhinitis यानी सर्दी खासी।  कुत्ता बिल्ली के शरीर पर धूल और मिट्टी बैठी हुई होती है ; और साथ ही साथ उनके बाल भी झड़ते हैं।  वह धूल मिट्टी और उनके बाल पूरे घर में फैलते हैं , उसी वजह से जो उनके शरीर पर डस्ट माइट dust mite जैसे छोटे छोटे कीड़े होते हैं; वह सारे घर में फैल जाते हैं । इन सारी चीजों से घर में रहने वाले लोगों को एलर्जी हो सकती है और बच्चे तो इससे काफी ज्यादा बीमार पड़ सकते हैं। इनकी वजह से  अस्थमा के पेशेंट में  सीवियर अस्थमा अटैक severe asthamal attack  भी आ सकता है,  जो जानलेवा हो सकता है।

जिन लोगों को एलर्जिक राइनाइटिस यानी एलर्जी की सर्दी खासी है,  और अस्थमा है उन लोगों को तो घर में कुत्ता बिल्ली बिल्कुल ही नहीं पालनी चाहिए। अगर आप पाल रहे हो तो तुरंत ही उन्हें छोड़ दीजिए , आपकी परेशानी बहुत हद तक कम हो जाएगी।

Diabetes ke lakshan 

        तीसरी बीमारी है scabies यानी खाज खुजली ।आपने इन जानवरों को कई बार खुजाते हुए देखा होगा ; खुजाने के बाद उनके बाल भी झड़ते हैं, कुछ जानवर तो दिन भर खुजा दे ही रहते हैं। यह  एक बीमारी है जो इंसानों में भी फैल सकती है। इससे आपका भी पूरा शरीर खुजा सकता है । इस बीमारी का स्पेशल लक्षण यह है कि, रात में ज्यादा खुजली होती है और कमर के नीचे का भाग ज्यादा खुजाता है ।

         कुत्तों में रेबीज  rabies यह बीमारी पाई जाती है; यह तो आपको पता ही होगा । अगर आपके पालतू कुत्ते को यह बीमारी हो जाए और उसमें इस बीमारी के लक्षण दिखने से पहले अगर वह आपको काट ले , या फिर आपको नाखून मार दे , तो आपको भी रेबीज हो सकता है।

              बारिश के मौसम में कुत्ता बिल्ली घर में गंदगी फैलाते हैं ; बाहर से भीग कर आते हैं और उनके साथ कीचड़ मिट्टी और पानी भी आता है। उनमे bacteria होते है। उन बैक्टीरिया के संपर्क में आप आ जाएंगे तो आप और आपके बच्चे भी बीमार पड़ने के चांसेस बहुत ही ज्यादा होंगे।

Read more- blood group for marriage
        That's all for now, stay fit stay healthy
कुत्ता बिल्ली पालने के नुकसान 

   

टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

कोविड-19 टीका

दुनिया के बहुत सारे देश वैक्सिंग खोज निकालने में जुटे हुए हैं। इनमें से चार वैक्सीन बहुत ही महत्वपूर्ण है।  पहला अमेरिका के मॉडर्ना vaccine,  दूसरे रशिया  कि Gamalia यूनिवर्सिटी की वैक्सीन, जो मैंने पहले बताया। तीसरी है ऑक्सफर्ड जो ब्रिटेन की कंपनी है, जिसका उत्पादन भारत में सिरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया कर रही है। चौथी है भारत बायोटेक की कोएक्सिंग covaccine ।
Read this post in ENGLISH 

Covid-19 vaccine 
सबसे पहले बात करेंगे रशिया की वैक्सीन के बारे में। उन्होंने यह  वैक्सीन उनके देश के फ्रंट  लाइन कोविड-19 योद्धाओं को ही लिए देना शुरू कर दिया है।  और उन्होने डिक्लेअर कर दिया है कि अक्टूबर से हर एक नागरिक को रशिया के दी जाएगी। यह टीका  भारत में बनाने के लिए डिस्कशन अभी जारी है।

लेकिन यह वैक्सीन दिसंबर से पहले भारतीयों में दिए जाने की आशायें  बहुत ही कम है। क्योंकि इसका मास प्रोडक्शन अभी से शुरू हुआ है। लेकिन वो पहले रशिया में ही दी जाएगी। इसका उत्पादन भारत में भी शुरू हुआ तब भी उसका टेस्टिंग नहीं किया गया है।  हम भारतीयों के ऊपर पहले फेस 1 फेस टू फेस 3 का टेस्टिंग होगा। उसके नतीजे अगर अच…

Melasma in hindi

Melasma in hindi - बहुत सारे लोगों के चेहरे पर झाइयां आ जाती है।  इसे अंग्रेजी में मेलास्मा भी कहते हैं । चेहरे पर काले दाग धब्बे आ जाते हैं।  झाइयों के ऊपर, काले दाग धब्बों के ऊपर आपको बहुत सारे आर्टिकल्स ब्लॉग्स  मिल जाएंगे।  किसी ने 3 दिन में दाग धब्बे कम करने को कहा है। किसी ने इसके ऊपर घरेलू उपाय बताएं है।
Read this post in English

     लेकिन मैं आपको आज झाइयां हटाने के लिए, चेहरे के काले दाग धब्बे हटाने के लिए, एक ऐसी क्रीम बताऊंगा जिससे आपकी दाग धब्बे पूरी तरह से और हमेशा के लिए ठीक हो जाएंगे। यह पूरी तरह से साइंटिफिक जानकारी होगी। और इसके साथ साथ कोई टिप्स भी बताऊंगा जिससे यह फिर से वापस ना आए।

झाइयों किन में आती है। melasma।          झाइयां यह बीमारी ज्यादातर औरतों में पाई जाती है। पुरुषों में इसका प्रमाण बहुत ही कम है। इसमें क्या होता है कि पूरे चेहरे पर काले दाग धब्बे आ जाते हैं। पूरे चेहरे पर खासकर के दाग धब्बे ज्यादातर गाल, नाक , माथा, lips के आजू-बाजू के हिस्से में ज्यादा आ जाते हैं।
Read more- hangover treatment in hindi  झाइयों का कारण। causes of melasma ।            और…

Coronavirus prevention in hindi

Coronavirus prevention in hindi  - कोरोनावायरस ने तो दिमाग खराब कर रखा है। इधर जाओ, उधर जाओ,  कोरोनावायरस, न्यूज़ लगाओ तो भी सिर्फ और सिर्फ कोरोनावायरस है। पूरा विश्व अब इंतजार कर रहा है कि कोरोनावायरस कब जाएगा और हम कब चैन की सांस ले सकेंगे। लेकिन कोरोनावायरस है कि वह जाता ही नहीं है।

Read this post in English

        WHO डब्ल्यू डब्ल्यू एच ओ ने स्पष्ट कर दिया है कि शायद कोरोनावायरस अब कभी भी नहीं जाएगा। जैसे स्वाइन फ्लू रहेगा वैसे ही कोरोनावायरस कोविड-19 रह सकता है। और साथ ही दूसरे शास्त्रज्ञोंकी माने तो अगर कोरोनावायरस गया भी तो कम से कम 6 महीने से 1 साल तो वह रहेगा ही रहेगा। उसके  बाद ही उसके कम होने के चांसेस है।

       अभी lockdown धीरे  धीरे उठ रहा है। दुकानें शुरू हो गई है, कंपनी शुरू हो गए हैं, लोग अपने अपने जॉब पर जाने लगे हैं। धीरे-धीरे कुछ दिनों में पूरी तरह से लॉक डाउन उठ जाएगा। मेट्रो सिटीज से गांव में लोग आना शुरू हो चुके हैं। इन दोनों वजह से पूरे देश में अब कोरोनावायरस फैलने का बहुत ही ज्यादा चांसेस है। तो अभी हमें बहुत ही ज्यादा सावधानी बरतनी पड़ेगी।             अगर ह…