सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

पोस्ट

मार्च, 2020 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

Hantavirus in hindi

Hantavirus-पूरे विश्व में कोरोना व्हायरस  ने तहलका मचा रखा है। पूरे विश्व में अभी 500000 से भी ज्यादा कैसेस कोरोना वायरस के पाए जा चुके हैं। कोरोना वायरस से मरने  वालों का आंकड़ा 21000 के पार पहुंच चुका है। कोरोनावायरस यानी कोविड-19 वायरस जिस देश में पहले पाया गया, आप सभी को पता है। उसका नाम है चीन।
Read this post in English 

  चिन में  अभी कोरोनावायरस का प्रकोप कम हो रहा है। लेकिन उसी देश से चीन से एक घबरा देने वाली खबर आ गई है ।चीन में एक दूसरे मिस्ट्री वायरस ने दस्तक दी है। उस मिस्ट्री वायरस का नाम है हंतावायरस। हंतावायरस की वजह से चीन में एक पेशेंट की मौत हो गई है। तो चले देखते पूरी न्यूज़ क्या है।
Stop self medication
      Hantavirus   चीन के नेशनल न्यूज़ चैनल के हवाले से यह खबर दी जा रही है। यह घटना चीन के यूनान प्रांत की है। वह एक व्यक्ति यूनान प्रांत से shangdong प्रांत  जा रहा था।  वह एक बस में सवार था, तब उसी बस में उसकी मौत हो गई। तब प्रशासन को लगा कि उस पेशेंट की मौत कोविड-19 वायरस की वजह से हो गई है। लेकिन पूरी जांच पड़ताल करने के बाद यह सामने आया कि उसे कोरोनावायरस डिसीज…

Fode funsi ka ilaj

Fode funsi la ilaj -अंग्रेजी में बाॅईल भी कहते हैं। हिंदी में इसे फोड़ा आना, फुंसी आना कहते है। फोड़ा आना बहुत ही दर्दनाक होता है।  यह फोड़े 3 से 4 दिनों से 10 12 दिनों तक रह सकते हैं। फोड़े आने के बाद वह जगह पूरी सूज जाती है।  उसका आजू-बाजू का जो एरिया है वह पूरा लाल पड़ जाता है। फोड़ा बहुत ही ज्यादा दुखता है। जब थोड़ा पक जाता है तो उसमें से पस यानी पीला मवाद  बाहर आता है। पीला मवाद बाहर आने के बाद ही कुछ दिनों में वह फोड़ा फट जाता है।Read this post in English 

     बॉयल यानी फोड़े फुंसी के बारे में बहुत सारी गलतफहमियां मौजूद है। गलतफहमी का समाधान में इस आर्टिकल में करूंगा। तो आज किस आर्टिकल में हम फोड़े फुंसी की होम रेमेडी। उसकी आयुर्वेदिक और एलोपैथिक ट्रीटमेंट। फोड़ आए तो हमें क्या क्या करना चाहिए क्या नहीं करना चाहिए, वह हम इस आर्टिकल में देखेंगे।
What is furuncle   Furuncle एक बैक्टीरियल इंफेक्शन है।यह  hair root इन्फेक्शन है। हेयर रूट इनफेक्शन यानी कि बालों की जड़ों में होने वाला इन्फेक्शन। यह ज्यादातर चेहरा मान कंधा और पिछवाड़े पर आमतौर पर आ जाते हैं। फोड़ा अगर छोटा हो तो…

पथरी का इलाज। kidney stone in hindi ।

Kidney stones treatment

Kidney stone in hindi -किडनी स्टोन, किडनी स्टोन इसे हिंदी में पथरी भी बोलते हैं। किडनी स्टोन बहुत ही आम बीमारी है। पथरी होने पर पेट के नीचे का हिस्सा और कमर के ऊपर के हिस्से में भी दुखता है। बहुत ही ज्यादा दुखता है इतना दुखता है कि पेशेंट चीखता चिल्लाता है। वह एक जगह जगह ठीक से बैठ भी नहीं पाता।
Read this post in English 

लोगों को इसके बारे में पूरी तरह से जानकारी नहीं होती। इसके लिए वह घरेलू उपाय, देसी दवा ही करते रहते हैं और डॉक्टर के पास नहीं जाते। तो आज ईस  आर्टिकल में मैं आपको किडनी स्टोन के बारे में पूरी तरह से जानकारी दूंगा। किडनी स्टोन के लक्षण 1. Pain in loin and groin area-पेन इन लाइन एंड ग्रॉइन एरिया, पेट के निचले हिस्से में या कमर और पीठ के बीच के हिस्से में दुखता है। बहुत ही ज्यादा दुखता है। दर्द अचानक से शुरू होता है और इतना दुखता है कि पेशेंट ठीक से बैठ भी नहीं पाता। एक जगह से दूसरी जगह पर खेलकूद करता रहता है। फिर भी उसका दर्द कम नहीं होता।

2. Burning micturation-बर्निंग मिक्चरेशन, पेशाब के समय जलन होती है।

3. Increased frequency of urine-फ्रिकवे…

Health apps in hindi

Health apps in hindi  -आप सब अपनी हेल्थ का कितना ख्याल रखते हैं। कई सारे लोग रोज जिम जाते हैं। कुछ लोग वाकिंग करते हैं। कुछ लोग रनिंग करते हैं। कुछ लोग साइकलिंग करते गहै। कुछ प्राणायाम करते हैं। कुछ लोग वेट कम करने के लिए ऐसा करते हैं, तो कुछ लोग अपना स्वास्थ्य बनाने के लिए और बरकरार रखने के लिए ऐसा करते हैं।
Read this post in English 

    अब तो फिटनेस बैंड पहनने का फैशन आ गया है। फिटनेस बैंड से हम रोजाना कितनी कैलोरीज बर्न करते हैं यह हमें पता चलता है। कुछ ऐसे app  अब भी मौजूद है प्ले स्टोर पर जो हमें हेल्थ, फिटनेस और वेट लॉस की जानकारी देते हैं। इन एप्स के माध्यम से आप दवा मेडिसिन, डाइट और एक्सरसाइज के सवालों के बारे में आसानी से जानकारी पा सकते हैं। तो आइए जानते हैं पांच सबसे अच्छे हेल्थ एंड फिटनेस एप्स।
Read more- ashwagandha 

टॉप फाइव हेल्थ एंड फिटनेस एप्स 1.Healthifyme app- हिलतीफाईम एप- वर्तमान समय में यह सबसे अच्छा वेट लॉस का ऐप है। डेली डाइट में आपको कितनी कैलोरी लेनी चाहिए और आप अभी कितनी कैलरी ले रहे हैं इसकी जानकारी यह आपको देता है। वजन कम करने और हेल्थी डाइट प्लान के सु…

Side effects of self medication in hindi

Side effects of self medication in hindi - दिल्ली से एक शॉकिंग न्यूज़ आई है,जिसे सुनकर आप हैरान रह जाएंगे। मेडिकल स्टोर के काउंटर पर बैठे हुए शख्स ने एक गलत दवाई दी तो 2 साल के मासूम लड़की को रिएक्शन हो गया। खून की उल्टी के साथ उभ उस रिएक्शन से उसकी जान चली गई।
Read this post in English 

यह घटना दिल्ली के शाहदरा इलाके की है। बच्चे को मामूली बुखार और खांसी हुई थी। मां ने सिर्फ एक गलती कर दी।  उसे डॉक्टर के पास ले जाने के बजाय मेडिकल स्टोर पर चली गई। वहां जो शख्स बैठा था उसने जो दवाई उनको दी, उसे बिना सोचे समझे उस मासूम को खिला दिया। पुलिस ने अभी जांच पड़ताल कर ली है। पुलिस के अनुसार गलत दवाई दी जाने की वजह से रिएक्शन होने के कारण मासूम की जान चली गई। राजधानी दिल्ली से आई हुई यह खबर हर इंसान के लिए सबक है। अगर मामला बच्चों का हो तो हमें अतिरिक्त सावधानी बरतनी चाहिए।
Moral of this news    इस घटना से आप सब लोगों को एक सबक लेना चाहिए। कि खुद से ही मेडिकल में से दवाई लेना खतरे से खाली नहीं है। इसमें आपकी जान भी जा सकती है। दवाई देते समय पेशेंट की आयु, उसका वजन, पुरानी बीमारियां जैसे कि …

अस्थम के लक्षण। asthama symptoms in hindi ।

अस्थमा के लक्षण -  बीपी शुगर और अस्थमा यानी दमा यह 3 जेनेटिक बीमारियां है। यह तीनों बीमारियां सबसे ज्यादा पानी वाली बीमारियां है। इन तीनों में से कम से कम एक तो बीमारी हर एक फैमिली में पाई तो जाती ही है। इन तीनों में से सबसे कम खतरनाक बीमारी है अस्थमा, क्योंकि अस्थमा से होने वाले सडन डेथ बहुत ही कम पाई जाती है।
Read this post in English

     यह कम खतरनाक जरूर है, लेकिन पेशेंट को बहुत ही ज्यादा तकलीफ अगर कोई बीमारी देती है तो वह अस्थमा ही है, दमा ही है।  पेशेंट रात रात भर सो नहीं पाता, बैठा ही रहता है। उसे बहुत ही तकलीफ होती है। यह औषधि से हमेशा के लिए पूरी तरह से ठीक होने वाली बीमारी नहीं है। यह सिर्फ औषधि से कंट्रोल हो सकती है।

        कई लोगों को तो पता भी नहीं होता कि उनको अस्थमा है। वह अस्थमा के लक्षण को दूसरे किसी और के लक्षण समझकर उसे निकलेक्ट कर देते हैं। अस्थमा की औषधि नहीं  लेते। उससे यह बीमारी बढ़ती ही जाती है। इसीलिए अस्थमा के लक्षणों के बारे में आपको पूरी तरह से पता होना चाहिए। तो इसी ब्लॉग में मैं आपको अस्थमा और अस्थमा के लक्षणों के बारे में पूरी जानकारी दूंगा।

दमा के…

DENGUE ke lakshan । डेंगू के लक्षण।

Dengue ke lakshan
जिस बीमारी का नाम सुनते ही इंसान डर जाता है। वह बीमारी मच्छर के काटने से फैलती है। उस डरावनी किलर बीमारी का नाम है डेंगू। भारत में हर साल लाखों की तादाद में डेंगू के मरीज पाए जाते हैं उनमें से कई हजार लोगों की मौत डेंगू की वजह से होती है। डेंगू से मरने वालों की तादाद हर साल बढ़ती ही जा रही है। डेंगू पर शुरुआत में ही उपचार हो और  जल्दी से एडमिट हो जाए तो डेंगू  पूरी तरह से ठीक होता है। इसके लिए आपको डेंगू की शुरुआती लक्षणों के बारे में पूरी तरह से पता होना चाहिए। तो आज मैं डेंगू  के बारे में पूरी तरह से साइंटिफिक जानकारी दूंगा।
Read this post in English 

डेंगू बुखार  डेंगू मच्छर से फैलने वाली बीमारी है।  एडीसी ईजीप्ती edes egypty नाम के मादी मच्छर से काटने से फैलता है।यह  एक वायरल डिजीज है। यानी यह virus  वायरस की वजह से होता है। इस वायरस का नाम है डेंगू वायरस। edes egypty के मादी के जरिए एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलता है काटने से. डेंगू के मच्छर ज्यादातर सुबह को और शाम को काटते हैं। मच्छर काटने के बाद 4 से 7 दिनों के अंदर febrile phase आपको डेंगू के लक्षण दिखा…

Hichki । हिचकी।

Hichki -हिकप्स  इसे हिंदी में हिचकी आना भी बोलते हैं। हिचकी बहुत ही आम बात है। यह किसी को भी हो सकती है। हिचकी कभी भी आ सकती है। यह कोई बड़ी बात नहीं है। यह अपने आप से भी ठीक हो जाती है। लेकिन कुछ कुछ केस में बहुत देर तक रहती है और कुछ केस में तो यह बहुत दिनों तक भी रह सकती है। क्या आपको पता है कि हिचकी क्यों आती है? हिचकी के कारण क्या क्या है? हिचकी उपर हम घरेलू उपाय क्या-क्या कर सकते हैं? तो इस आर्टिकल में मैं आपको यही बताऊंगा, साथ ही साथ हिचकी के आयुर्वेदिक और एलोपैथिक उपचार भी बताऊंगा।
Read this post in English

हिचकी के कारण हमारे सांस लेने वाले जो स्नायु होते हैं छाती के, उनका स्पाजम spasm हो जाता है।उसी वजह से हिचकी आती है। spasm यानी  वह अपनी मर्जी involuntary से कॉन्ट्रक्शन और रिलैक्सेशन करते हैं। spasm का कारण क्या होता है? हमारा पेट हमारा इंटेस्टाइन यानी आते हैं, इनका इरिटेशन irritation हो जाता है। diaphragm का भी irritation दाह हो जाता है। diaphragm डायफ्राम एक पार्टीशन का काम करता है जो पेट और छाती को सेपरेट करता है।

इरिटेशन का कारण क्या है?  हम क्या करते हैं ज्यादा खाना ख…

एड्स । HIV IN HINDI ।

एड्स - एचआईवी एड्स एक महा भयंकर रोग है। इसका इलाज आज तक खोज नहीं निकाला गया है। इसका मतलब है जिन लोगों को यह बीमारी होगी, वह पूरी तरह से ठीक नहीं हो सकते। एड्स के पेशेंट की मौत तय मानी जाती है। उस पर अभी एलोपैथिक दवाइयां उपलब्ध है। लेकिन उससे सिर्फ और सिर्फ एड्स के पेशेंट की आयु बढ़ती है बीमारी पूरी तरह से ठीक नहीं होती।
Read this post in English 

   तो अब एचआईवी ऐड्स क्या है यह जान लेते हैं।एचआईवी HIV- human immunodeficiency virus,ह्युमन इम्यूनोडिफिशिएंसी वायरस। एचआईवी 1 वायरस है, एड्स इस वायरस से होने वाला डिसीज है।एड्स AIDs- acquired immunodeficiency syndrome,यानी एक्वायर्ड इम्यूनोडिफिशिएंसी सिंड्रोम।  एचआईवी वायरस जब किसी के शरीर में जाता है तो उस इंसान की डिफेंस सिस्टम पर अटैक कर देता है। defense सिस्टम यानी डब्ल्यूबीसी, cd4 सेल्स। जब किसी व्यक्ति का इम्यूनिटी, डिफेंस सिस्टम कम हो जाती है तो दूसरी बहुत सारी बीमारियां उसके शरीर पर अटैक कर देती है। और उसका शरीर बहुत सारी बीमारियों का घर बन जाता है। एड्स के पेशेंट को होने वाली खासकर बीमारियां है- टीबी TB, फंगल इन्फेक्शन लूज मोशन ईटी…

HIV vaccine in hindi । एड्स का टीका।

Hiv vaccine in hindi - पूरे विश्व के लिए बहुत ही बड़ा खुशी का दिन है। खासकर एचआईवी और एड्स के पेशेंट को। क्योंकि एचआईवी एड्स एक महा भयंकर रोग है। एक बार किसी पेशेंट को वह हो जाए तो उसकी मृत्यु तय मानी जाती है। scientists ने बहुत  ही ज्यादा कोशिश की,  लेकिन अब तक इसके ऊपर कोई भी अच्छी दवाई खोज नहीं निकाली गई। लेकिन अभी एक बहुत ही अच्छी ब्रेकिंग न्यूज़ आई है। फाइनली शास्त्रों में एचआईवी के ऊपर वैक्सीन यानी एचआईवी का टीका  खोज निकाला गया है। तो देखते पूरी न्यूज़ क्या है।
Read this post in English 

HIV vaccine  दुनियाभर के साइंटिस्ट कई सालों से इसी फिराक में थे कि,  कैसे भी करके एचआईवी ऐड्स के ऊपर एक दवाई या फिर वैक्सिन खोज निकाला जाए। बहुत सारे देशों ने बहुत सारे शास्त्रम को अपॉइंट किया था इसी काम में। और उनके ऊपर बहुत सारा पैसा भी खर्च किया, लेकिन अब तक कोई पुख्ता  औषधि या वैक्सीन खोज निकाली नहीं गई थी। लेकिन इतनी मेहनत के बाद शास्त्रज्ञो को सफलता हाथ लग गई है। अभी उन्होंने एचआईवी वैक्सीन खोज निकाली है।
Cancer treatment   AIDS Vaccine  अभी यह वैक्सीन, वैक्सीन यानी टीका सिर्फ बंदरों में द…