सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

पोस्ट

मई, 2020 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

pica in children in Hindi

Pica in children in hindi- बच्चा मीट्टी खाना कैसे छुडाए?
   हमारे ओपीडी में बहुत सारे पेरेंट्स आते हैं। सबकी एक ही कंप्लेंट होती है कि, उनका बच्चा मिट्टी खा रहा है। मिट्टी के साथ-साथ पेंसिल खाता है, कंकड़ खाता है, कलर, बहुत सारी चीजें खाता है।
Read this post in English 

      इसे अंग्रेजी में पिका बोलते हैं। यह आदत छूटनी चाहिए। हमने बहुत सारी औषधियां ट्राई की, बहुत सारे डॉक्टरों को दिखाया, लेकिन मिट्टी खाने की आदत छूट थी ही नहीं।
      इस आर्टिकल में आपको इसकी औषधि  और घरेलू उपाय बताऊंगा। जिससे आपका बच्चा हमेशा के लिए मिट्टी, कंकड़,पेंसिल आदि चीजें खाना छोड़ देगा।
Hangover treatment in hindi 
मीट्टी खाने  के कारण।   यह समस्या लो सोशियो इकोनामिक क्लास low socioeconomic class, यानी गरीबों में ज्यादा पाई जाती है। क्योंकि उनके घर में खाने पीने की चीजें  पर्याप्त मात्रा में नहीं होती।  तो बच्चे का पोषण अच्छी तरह से नहीं हो पाता। इसी वजह से बच्चा मिट्टी कंकड़ खाता है।     अमीरों  के घर में भी यह प्रॉब्लम देखी जाती है।  पर जिन घरों में झगड़े ज्यादा होते हैं, माता-पिता झगड़ते हैं, उनके बच्चे ज…

अश्वगंधा के फायदे । ashwagandha benifits in hindi ।

अश्वगंधा के फायदे- अश्वगंधा एक आयुर्वेदिक औषधि है। भारत में इसे 3000 सालों से इस्तेमाल कर रहे हैं। यह आयुर्वेदा की सबसे महत्वपूर्ण औषधि  है।  इसके फल, बीज, पत्ते, खाल, मूली सभी का औषधि  इस्तेमाल है। इसके सबसे ज्यादा औषधि  है मूली।  मूली का चूर्ण तो आज के आर्टिकल में हम, अश्वगंधा चूर्ण  का  उपयोग देखेंगे।

Read this post in English 
Benifits of ashwagandha       1. सबसे पहला और महत्वपूर्ण फायदा है कि अश्वगंधा चूर्ण से स्ट्रेस एंड anxiety यानी तान तनाव कम होता है। आज के इस फास्ट लाइफ में टेंशन बहुत ही आम बात है। इसके ऊपर एलोपैथिक की औषधि भी दी जाती है। लेकिन उसके बहुत सारे साइड इफेक्ट है। अश्वगंधा चूर्ण टेंशन तो कम करता ही है, लेकिन इसके कोई साइड इफेक्ट नहीं है।

     2.  इसे मसल मास यानी माउंस पेशिया बढ़ती है।आयुर्वेद में अश्वगंधा को रसायन कहा जाता है। रसायन यानी इसके सेवन से इंसान लंबी  और निरोगी आयु जीता है।  इससे इंसान बहुत सालों तक जवान रह सकता है। और बुढ़ापा जल्दी नहीं आता। इसके इस्तेमाल से मसल मास, मांसपेशियां बढ़ती है। सप्तधातु भी बढ़ते हैं। इसका उपयोग वजन बढ़ाने के लिए किया जाता…

दवाई

दवाई - अभी पूरे विश्व की आधी आबादी घर पर ही बैठी है। कई सालों में सारे देशों में अभी लाकड़ौन चल रहा है। भारत में भी 17  मई तक लाकड़ौन बढ़ाया गया है। इस बीमारी के चलते लाकड़ौन बढ़ाना बहुत ही अनिवार्य है। और कितने दिन चलेगा यह भी पता नहीं। इसके बहुत सारे फायदे होंगे लेकिन कुछ नुकसान भी है।

Read this post in English 

            मुंबई पुणे जैसी मेट्रो सिटीज में ओपीडी यानी क्लीनिक बंद है। बड़े-बड़े अस्पतालों में भी ओपीडी बंद रखी गई है। सिर्फ इमरजेंसी कैसेस  चालू है। इन सब का नुकसान यह हो रहा है कि लोगों को छोटी-छोटी बीमारियों के लिए भी गोलियां मिलनी या फिर डॉक्टर की सलाह मिलनी बंद हो गई है। यह हो गई पहली केस।

        दूसरी केस ऐसी होती है कि, lockdown नहीं भी होता तो भी,  अगर रात को कोई घर का सदस्य बीमार पड़ जाए। पेट दुखने लगे , दस्त हो जाए तो सुबह तक ठहरना ही पड़ता है। डॉक्टर की ओपीडी शुरू होने तक क्योंकि रात को तो छुटपुट बीमारियों को हम डॉक्टर को कॉल नहीं कर सकते।

          ऊपर के दोनों केसेस में भी आपके घर में कुछ दवाइयां होना बहुत ही जरूरी है। जो छुटपुट बीमारी  में इस्तेमाल की जा सकती…