गुरुवार, 14 मई 2020

अश्वगंधा चूर्ण । ashwagandha ।

Ashwagandha benifits
Ashwagandha Churnabenifits 

Ashwagandha - अश्वगंधा एक आयुर्वेदिक औषधि है। भारत में इसे 3000 सालों से इस्तेमाल कर रहे हैं। यह आयुर्वेदा की सबसे महत्वपूर्ण औषधि  है।  इसके फल, बीज, पत्ते, खाल, मूली सभी का औषधि  इस्तेमाल है। इसके सबसे ज्यादा औषधि  है मूली।  मूली का चूर्ण तो आज के आर्टिकल में हम, अश्वगंधा चूर्ण  का  उपयोग देखेंगे।

Benifits of ashwagandha 

     1. सबसे पहला और महत्वपूर्ण फायदा है कि अश्वगंधा चूर्ण से स्ट्रेस एंड anxiety यानी तान तनाव कम होता है। आज के इस फास्ट लाइफ में टेंशन बहुत ही आम बात है। इसके ऊपर एलोपैथिक की औषधि भी दी जाती है। लेकिन उसके बहुत सारे साइड इफेक्ट है। अश्वगंधा चूर्ण टेंशन तो कम करता ही है, लेकिन इसके कोई साइड इफेक्ट नहीं है।
     2.  इसे मसल मास यानी माउंस पेशिया बढ़ती है।आयुर्वेद में अश्वगंधा को रसायन कहा जाता है। रसायन यानी इसके सेवन से इंसान लंबी  और निरोगी आयु जीता है।  इससे इंसान बहुत सालों तक जवान रह सकता है। और बुढ़ापा जल्दी नहीं आता। इसके इस्तेमाल से मसल मास, मांसपेशियां बढ़ती है। सप्तधातु भी बढ़ते हैं। इसका उपयोग वजन बढ़ाने के लिए किया जाता है। शरीर में ताकत आ जाती है। इंसान चुस्ती और फुर्ती का एहसास करता है।
      3.जिन पुरुषों को संतति नहीं प्राप्त हो रही है। उनमें पुरुषत्व की कमी है। तो उसके लिए अश्वगंधा सबसे बेहतरीन है। इससे फर्टिलिटी बढ़ती है। संतान न होने के प्रमुख दो कारण होते हैं। स्पर्म काउंट कम कम होना और स्पर्म की मोटिलिटी कम होना। अश्वगंधा से स्पर्म की संख्या भी बढ़ती है और उसकी मोटिलिटी यानी एक्टिविटीज भी बढ़ती है।

अश्वगंधा के फायदे 

    4. Increases sex Desire- इससे  काम इच्छा बढ़ती है। कामेच्छा कम होने के दो प्रमुख कारण होते हैं। पहला स्ट्रेस रिलेटेड लैक ऑफ़ सेक्स डिझायर और दूसरा testosterone hormones की कमी। जैसे मैंने पहले बताया कि stress, anxiety एंजाइटी अश्वगंधा से कम होती है।  तो stress रिलेटेड सेक्स डिजायर का ashwagandha इसका परमानेंट सॉल्यूशन है। अश्वगंधा चूर्ण से टेस्टोस्टेरोन हार्मोन की लेवल बढ़ती है और हार्मोन की वजह से कामेच्छा  बढ़ती है। 
     5. इससे कोलेस्ट्रोल और ट्राइग्लिसराइड की लेवल कम हो जाती है। कोलेस्ट्रोल और ट्राइग्लिसराइड ही heart के लिए बहुत ही हानिकारक होते हैं। इनकी लेवल कम हो जाने से हार्ट  की बीमारियां भी बहुत हद तक कम हो जाती है। 
    6.अश्वगंधा डायबिटीज में भी बहुत मददगार है। diabetes से शुगर लेवल बढ़ती है।  एक तो इंसुलिन की लेवल शरीर में कम हो जाती है और कोशिकाओंकी इंसुलिन लेने की क्षमता यानी इंसुलिन सेंसटिविटी भी कम हो जाती है। अश्वगंधा चूर्ण से इंसुलिन लेवल भी बढ़ती है और इन cells की इंसुलिन सेंसटिविटी insulin sensitivity भी बढ़ती है। इससे शुगर लेवल नॉर्मल रहने में मददगार साबित होती है।

अश्वगंधा चूर्ण 

   7. यह कैंसर की रोकथाम में मददगार है। कैंसर सेल्स की उत्पत्ति और कैंसर सेल्स का बढ़ाना इससे कम हो जाता है।
    8. इसमें पेन किलर और एंटी इन्फ्लेमेटरी प्रॉपर्टीज है। इसका मतलब आप और आपका घुटने में दर्द हो मान,पाठ, कमर दर्द कर रही हो, तो उसका दर्द कम हो जाता है। उसके साथ साथ उधर  की सूजन और लाली भी कम हो जाती है।
     9. Increases brain function  and memory- इससे ब्रेन फंक्शन और मेमोरी भी बढ़ती है। मस्तिष्क जोर से काम करने लगता है। याददाश्त अच्छी रहती है।  मस्तिष्क से रिलेटेड डिसीसिस जो है जैसे कि अल्जाइमर डिजीज इसमें अश्वगंधा कारगर साबित हुई है।
Stay fit stay healthy ।
Read more- tablets at home 
Ashwagandha
Ashwagandha benifits in hindi 

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Comments system

[blogger][disqus][facebook]

Disqus Shortname

sigma-2